वातविकार — करे हाहाकार। अर्थराइटिस की 100 फीसदी हर्बल मेडिसिन

अब कमरदर्द, ग्रंथिशोथ (थायराइड), गले में सूजन, जोड़ो व घुटनों की पीड़ा, टखनों की तकलीफ, पिंडरियों में खिंचाव, हाथ-पैरों कम्पन्न, सुन्नपन, शरीर की अकड़न, जकड़न के लिए अमृतम लाया है —

 “ऑर्थोकी गोल्ड कैप्सूल”  

जो दिलाएगा – ८८ प्रकार के वातविकारों (अर्थराइटिस) और जोड़ो व घुटनों के दर्द तथा शारीरिक पीड़ा से छुटकारा सदा-सदा के लिए। बिना किसी नुकसान या दुष्प्रभाव के, यदि आप, या आपकी फेमिली में कोई बहुत समय से वात व्याधि एवं जोड़ो के पीड़ा से परेशान रहता है, तो इसका स्थाई इलाज है :-

 “ऑर्थोकी गोल्ड कैप्सूल”  

100% आयुर्वेदिक औषधि,
अब www.amrutam.co.in पर
ऑनलाईन उपलब्ध है।

थॉयराइड (ग्रंथिशोथ)

से होने वाले 88 प्रकार के “वातरोगों“ से सावधान रहें,
अन्यथा बढ़ा सकता है
★मानसिक तनाव, ★स्नायु-विकार,

★मेमोरी लॉस, ★स्मरण शक्ति की कमी,

व्यक्ति भयभीत रहता है, इस कारण “चतुराई” घटकर याददास्त कमजोर होने लगती है। बार-बार भूलने की आदत से क्रोध उत्पन्न हो जाता है।

क्या है थायराइड

थायराइड को आयुर्वेद ग्रंथो में “ग्रंथिशोथ” कहा गया है। थायरॉइड अर्थात ग्रंथिशोथ
ग्रंथिंयों एवं रक्त की नाड़ियों में सूजन उत्पन्न कर खून के संचार को अवरुद्ध कर देता है,जिससे
शरीर दर्द से कराह उठता है और अनेकों
मनोरोग एवं वात बीमारियां घेर लेती हैं।
        https://www.amrutam.co.in/thyroidvatta/

अस्थि या हड्डियों के क्षय, क्षीण तथा कमजोर होने पर शरीर में लचीलापन कम होकर तन निम्न व्याधियों से घिर जाता है ।

https://www.amrutam.co.in/weakbones-orthokeygoldcapsulesandmalt/


ORDER NOW! 

RELATED ARTICLES