बालों में गन्दगी के कारण पड़ते हैं लीख व जुएँ

सिर में जुएं और लीख पड़ना

क्यों और कैसे पड़ते हैं जुएँ।
इसके लक्षण, कारण और प्राकृतिक उपचार कारण एवं 100% हर्बल चिकित्सा
 
बोरिंगखारे और प्रदूषित पानी से बाल

धोने पर सिर में लीखजुएं पड़ जाते हैं।

लक्षण व दुष्प्रभाव

इस रोग हो जाने पर खोपड़ी में बहुत
खुजली और बेचैनी सी होती रहती है।
【】कभी-कभी चक्कर आते हैं।
【】बालों में से बदबू आने लगती है।
【】बाल भूरे और मटमेले होने लगते है।
【】इस केश रोग की सही चिकित्सा नहीं करने पर बाल झड़कर, पतले तथा
दोमुंहे हो सकते है।
【】यह केश पतन या पालित्य का कारण
भी बन सकता है।
【】सिर में जुएं होने के कारण व्यक्ति को और भी कई रोग हो जाते हैं।
【】गंजापन भी आ सकता है इसलिए बालों से जुएं एवं लीख को खत्म करना बहुत आवश्यक है।
 
लीख और  जुओं को नष्ट करने के लिए प्राकृतिक चिकित्सा एवं आयुर्वेदिक ओषधि द्वारा

उपचार और इलाज -- जुओं को खत्म करने के लिए

 ORDER KUNTAL CARE BASKET TODAY

बालों की जड़ों में

हल्के हाथों से 5 से 10 मिनिट तक इस तरह लगाएं की स्पा जड़ों में समाहित हो जाए। फिर, बालों को एक घंटे तक सूखने दें। इसके बाद मोटे कंघे से धीरे-धीरे बाल सुलझा ले, तत्पश्चात बहुत बारीक कंघी से बालों की गन्दगी को बाहर निकल देंवें।
जब पूरी तरह बाल सुलझकर खोपड़ी की त्वचा में अच्छी तरह सफाई हो जाए,
तब इसके बाद
हथेलियों में
20 से 30 ml या अपनी सुविधा अनुसार
बालों की जड़ों में 10 से 15 मिनिट तक
लगा छोड़ें।
उसके बाद सादा जल से बाल धोलें
 

ध्यान देंवें

 
कुन्तल केयर हर्बल हेयर शैम्पू लगाने से
सिर की त्वचा में हल्की सी चिन-मिनाहट
हो सकती है, लेकिन घबराएं नहीं, क्योंकि
इस हर्बल शेम्पो में ऐसी जड़ीबूटियों का
काढ़ा मिला है, जो बालों की लीख को
मारकर नष्ट कर देता है।
 
कुन्तल केयर स्पा कितनी बार लगाएं --
 
रोग नया हो, तो दिन में दो बार और यदि
बहुत समय से पीड़ित हैं, तो दिन में 3 से चार बार उपरोक्त विधि अनुसार उपयोग करें।
इसे एक माह तक लगातार बालों पर लगाना चाहिए। इस प्रकार से प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करने से सिर की लीखें एवं जुएं समाप्त हो जाते हैं।

अन्य उपाय व जानकारी-

 बालों में लीख और जुओं को मिटाने के लिए सबसे पहले रोगी व्यक्ति को अपने पेट को साफ रखना बहुत जरूरी है।
 यदि बालों को बढ़ाने वाली
कोशकाएँ क्षतिग्रस्त हो चुकीं हों या फिर,
सिर की जड़ों में बहुत कमजोरी आ गई है, कंघी करते समय
गुच्छों के रूप में बाल टूटते हों, तो
हर्बल ओषधि है। यह एक माह में बालों को
घना, काला, लम्बा और चमकदार बनाने
में सहायक है।
 
बालों के बारे में और भी विस्तार से जानें
 
बालों की जड़ें कमजोर होने
टूटने, झड़ने और पतले होने के 
ये 20 (बीस ) कारण हो सकते हैं।
 
 

RELATED ARTICLES