बालों के लिए आयुर्वेदिक काढ़ा

बालों के लिए आयुर्वेदिक काढ़ा

आयुर्वेदिक जड़ीबूटियों को 16 गुने पानी में इतना उबाले कि वह उबल कर दोगुना रह जाये, फिर, इसे खूब गाढ़ा करके
रख ले और रोज सुबह शाम बालों की जड़ों में 2 से 3 माह तक लगातार लगाए

खालित्य (गंजपन) का आयुर्वेदिक इलाज

आयुर्वेदिक दवाएँ तभी कारगर सिद्ध होतीं जब इनका उपयोग लम्बे समय तक किया जाए।
क्यों कि यह बीमारी को जड़ से बाहर निकालती हैं, इस वजह से इनके परिणाम (रिज़ल्ट) आने में कुछ समय लगता है। हर्बल दवाएँ त्रिदोषनाशक होती हैं।
 
इसके सेवन से शरीर के बहुत सारे विकार नष्ट होते हैं एवं बालों का झड़ना, टूटन, पतले होना, दोमुंहे होना, रूसी, बालों की गन्दगी आदि रोग हमेशा-हमेशा के लिए दूर हो जाते हैं ।

चमत्कार की आशा न करें

3 दिनों में या 7 से 10 दिनों में बाल उगाना नामुमकिन है। कृपया इस तरह के आकर्षक विज्ञापन झांसे या धोखेबाजी वाले होते हैं।
बालों की बीमारियों का स्थाई इलाज चाहते हैं, तो आपको थोड़ा धैर्य रखना जरूरी है। यदि शुद्ध आयुर्वेदिक चिकित्सा की जाए, तो 3 से 6 महीने में बालों को उगाया जा सकता है। आयुर्वेदिक ग्रंथों में इस तरह जी कुछ जड़ीबूटियों का वर्णन है।
आजकल बालों के ढेरों उत्पाद  इस तरह  के इलाज के लिए एक निर्देशात्मक या गैर-निर्देशात्मक दवा दोनों के रूप में विक्रय किये जा रहे हैं, इनसे अत्यंत सावधान रहना आवश्यक है।
 
 
प्राचीन समय की देशी जड़ीबूटियों से बना बालों के लिए हर्बल काढ़ा है, जिसे कभी हमारी बुजुर्ग महिलाएं दादी-नानी, इस्तेमाल करती थी।
यह हर्बल स्पा तरल (लिक्यूड) रूप में आता है।
 
कुन्तल केयर को आवेदन  करने का सबसे आसान तरीका यह है कि -  आपको अपने स्कैल्प (कपाल, खोपड़ी या सिर की खाल) पर बाल धोने के एक दिन पहले या 1 से 2 घंटे पूर्व लगाकर फिर, बाल धोना है।
अतिशीघ्र परिणामों (रिजल्ट्स) के लिए इसे एक दिन में दो बार एवं रोज भी लगाया जा सकता है
इसकी सबसे अच्छी खासियत यह है कि इसे लगाकर कहीं भी आया-जाया सकता है।
कुन्तल केयर बालों की जड़ो में शोषित हो जाता है।
इसके लगाने से बाल चिप-चिपाते नहीं है। यह बालों में लगाने के बाद 20 से 30 मिनिट में सूख जाता है।
कुन्तल केयर प्राकृतिक जड़ीबूटियों की खुशबू से लबालब है। इसकी खुशबू इतनी लाजबाब है कि
माइग्रेन, सिरदर्द, आधासीसी, तनाव आदि
को भी दूर करने में सहायक है।
 
कुन्तल केयर के  दृश्यमान परिणाम केवल कम से कम एक महीने के उपयोग के बाद दिखना आरम्भ हो जाते हैं। इसके कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं हैं और सैकड़ों साइड बेनेफिट्स हैं।
 
इसके चमत्कारी परिणामों के बारे में हमारे उपभोक्ताओं ने अनेको सकरात्मक विचार साझा किये हैं, जिन्हें आप हमारी वेबसाइट पर देख सकते हैं
अमृतम द्वारा निर्मित कुन्तल केयर बास्केट
के उपयोग से आप हमेशा-हमेशा के लिए
बालों की सभी विकराल समस्याओं से निजात पा सकते हैं
 
कुन्तल केयर के कोई भी दुष्प्रभाव नहीं हैं
 
¶¶ कुन्तल केयर के मुख्य आकर्षण खुराक के निर्देश पिछले आर्टिकल्स में दिए जा चुके हैं।
 

RELATED ARTICLES