।।महाशिवरात्रि।। ‎शुभ-सुख सिद्धि कारक हो

।।महाशिवरात्रि।।
 ‎शुभ-सुख सिद्धि कारक हो
    !!!!!!------------------!!!!!!!
‎सबके सब कष्ट काटने
‎के कारण कहते हैं-
"शंकर संकट हरणा"
‎अमावस्या से एक दिन पूर्व
‎चतुर्दशी (चौदस) की रात
‎मास शिवरात्री जो हर माह में एक
‎और एक साल में 11 बार आती है ।
‎        महाशिवरात्रि साल में एक
‎बार फाल्गुन महीने में आती है ।
‎    मंत्र सिद्धि के लिये
‎महाशिवरात्री
तंत्र शक्ति हेतु कालरात्रि
‎             और
‎यन्त्र शोधन साधना
‎हेतु  महारात्रि ।
‎ये तीनों रात्रि वर्ष
‎में एक बार
‎आती हैं, जो कि
‎स्वास्थ्य साधने के लिये
‎महत्वपूर्ण है ।
‎महादेव के महारहस्य,
‎अघोरतन्त्र, अवधूत की भभूत,
‎स्कंदपुराण, शिवपुराण,
‎भविष्यपुराण, महायोगी की
‎तन्त्र साधना, शिवयोग,
‎रावण संहिता, कठोतोपनिषद,
‎उत्तरकालामृत, तन्त्र-मन्त्र
‎विज्ञान, तांडव रहस्य,
‎नाग रहस्य, मुक्तिमार्ग
‎  आदि दुर्लभ
पुराने पुराणों में बखान
किया कि -
"शिव कैलाश के वासी,
दौड़ी धारों के राजा ।
कहकर स्तुतियों से
सराबोर कर गए ।
‎हजारों प्राचीन शास्त्र
‎तथा
‎अनेक सिद्ध संत,अवधूत,
‎अघोरी,नागा द्वारा
‎अनुभवों के आधार
‎पर रचित अद्भुत ग्रँथों
में महादेव की महामाया
‎के बारे में बस , अंत...
‎में इतना ही बता पाए कि
"शिव के कैलाश का अंत न पाया ।
‎ अंत में भी अंत  तेरी माया "
इन रात्रियों के ऊर्जा कारक, दमदायक,
‎काल (समय) में
‎महाकाल अपनी प्रकृति,
‎शक्ति, सूक्ष्म से सूक्ष्म
‎काल की कारक
‎महाकाली से मिलने
‎आते हैं ।
‎इस समय सृष्टि
‎के सर्वदोष त्रिदोष, त्रिशूल
‎सब सम हो जाते हैं ।
औषधियों में रस की,
‎प्राणियों में   जीवनीय
‎शक्ति की वृद्धि हो जाती है ।
‎   इन सबकी प्राप्ति रात्रि
‎जागरण, व्रत-उपवास
‎द्वारा की जा सकती है ।
‎इन रात्रियों में दिन की
‎पूजा का कोई महत्व
‎नहीं है ।
‎अमृतम जीवन
‎प्रसन्न मन
‎पाने के लिए
‎किसी शिवालय
‎में "राहुकी तैल" के
‎दीपक जलाकर
‎रातभर जागरण कर,
"नमः शिवाय

शिवाय नमः"
अपने
"गुरुमंत्र
का जाप से
मुकद्दर की मरम्मत
स्थाई रूप से हो
जाती है ।
महाशिवरात्रि जगरात्रा
सम्पन्नता में सहायक है ।
       ‎इस पूजा-प्रार्थना
से सफलता के द्वार
‎स्वयँ शिव आकर खोलते हैं ।
शक्ति का साक्षात्कार
होता है ।
‎मात्र एक बार के प्रयास
‎से सालभर विश्वास बना
‎रहेगा । ऐसा ही विश्वाश
‎हमें बाबा विश्वनाथ पर है ।
‎क्योंकि ये ही विश्व का
‎नाश और निर्माण  भी
‎करते हैं ।
‎कहते हैं-
!भावहिं
मेट सके
त्रिपुरारी !
तथा
* हानि-लाभ
जीवन-मरण
सुख-दुख
विधि हाथ*
इन 6 आवश्यक
कर्मों के अधिपति,
अधिष्ठाता शिव ही हैं ।
इनके परिवर्तन
की पकड़ इन्हीं
परमेश्वर पर है ।
जिन्होंने भी स्वयम्भू
शम्भू को साधा
उनकी सब
व्याधि-व्याधा
हमेशा के लिये
दूर हो गई ।
‎भगवान
भोलेनाथ सभी
‎का कल्याण करें ।
" ‎शिवकल्यानेश्वर"
से बस
‎इतनी प्रार्थना है ।
‎   अमृतम फार्मास्युटिकल्स
‎परिवार की और से
‎महाशिवरात्रि की
‎कोटि-कोटि शुभकामनाएं
‎और अंत में
उस अनंत
‎को, संसार के सारे
‎पंथ को, नीलकंठ को
‎सृष्टि के सभी
‎शिवभक्त, सद्गुरुओं,
‎साधक-सिद्धों
‎अघोरी-अवधूतों
‎शेषनाग-नागाओं
तथा तांत्रिको
पित्तरों-पूर्वजों,
मातृ-पित्तर मातृकाओं
कष्ट -क्लेश
के काटक
कुल के सभी
देवी-देवताओं
‎को नमन है-
‎इस भाव से कि
‎सबका आभाव मिट जाए !!!!
‎"आदिदेव विश्वनाथ,
‎भक्तन के सदा साथ ।
‎पकड़ो शिव सबको हाथ,
‎चारो ओर अँधियारो ।।
‎अचरज सब तेरे काम,
‎दया कर निहारो !!!

‎शुभरात्रि ।
शिवरात्रि ।
विशेष-
स्वास्थ्य है, तो
सौ साथ हैं ।
तंदुरुस्त व्यक्ति
के हजारों हाथ होते हैं ।
अतः प्रसन्न-मन
अमृतम-जीवन के
लिए
"अमृतम गोल्ड माल्ट"
का पूरा परिवार,
जीवन भर सेवन करें ।
यह बल-बुद्धि
वृद्धि कारक
हानिरहित
आयुर्वेदिक औषधि है ।
अमृतम गोल्ड माल्ट
रोग प्रतिरोधक क्षमता
एवम
जीवनीय शक्ति
बढ़ाकर,
अनेक ज्ञात-अज्ञात
रोग-विकारों से
शरीर की रक्षा करता
है ।
प्रदूषण, प्रदूषित
वायु के कारण
होने वाली
बीमारियों से
बचाव बनाता है ।
अमृतम गोल्ड माल्ट
आमला मुरब्बा,
सेव मुरब्बा, हरड़
मुरब्बा, गुलकंद,
ब्राम्ही, शंखपुष्पी,
शतावर, अभ्रक
शतपुटी, स्मृति
सागर रस आदि अनेक
असरकारक प्राकृतिक
जड़ी-बूटियों,
से निर्मित है ।
इसका सेवन
परिवार में किसी
भी उम्र के सभी
सदस्य जीवन भर
12 महीने ताउम्र
कर सकते हैं ।
          अशांति का अंत
!!!!!!!-------!!!!!!!
मानसिक शांति, भय-भ्रम,
चिंता-तनाव, चिड़चिड़ा
स्वभाव,क्रोध मिटाने
के लिये
Brainkey gold malt
और
Brainkey टेबलेट
का उपयोग करें
इसके सेवन से
आत्मविश्वास में
वृद्धि होकर महीनों
मन प्रसन्न रहता है ।
अमृतम
रोगों का काम खत्म
सर्वविकार नाशक
औषधियों को मंगाने
हेतु हमें फोन करें
अमृतम रीडर बनने के लिए धन्यवाद्
हमें care@amrutam.co.in पर ईमेल करे अपने सवालो के साथ
|| अमृतम ||
हर पल आपके साथ है हम

RELATED ARTICLES

Talk to an Ayurvedic Expert!

Imbalances are unique to each person and require customised treatment plans to curb the issue from the root cause fully. We recommend consulting our Ayurveda Doctors at Amrutam.Global who take a collaborative approach to work on your health and wellness with specialised treatment options. Book your consultation at amrutam.global today.

Learn all about Ayurvedic Lifestyle